बुधवार, 21 दिसंबर 2016

Happy New Year

ज्ञान की दुनिया StudyTrac पर आपका स्वागत है, आप सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ।
दोस्तों इस blog से जुडे़ रहने के कारण हम आपके आभारी हैं। कुछ तकनीकी कमियों के कारण इस blog पर अभी कुछ प्रकाशित नहीं किया जा रहा है, इसके लिए हमें खेद है। आप इस blog से जुडे़ रहिए बहुत ही जल्द इसपर नई जानकारियाँ प्रकाशित किया जाएगा। धन्यवाद!
StudyTrac

शनिवार, 29 अक्तूबर 2016

Happy Diwali


Motivational Stories in Hindi

Happy Diwali



Hi friends ज्ञान की दुनिया StudyTrac पर आपका स्वागत है।

StudyTrac के सभी पाठकों को दीपावली,गोवर्धन पूजा और छठ पूजा की हार्दिक शुभकामनाएँ।

दोस्तों StudyTrac को मुख्य रूप से students के लिए बनाया गया है, फिर भी यह अन्य लोगों के लिए भी उपयोगी सिद्ध हो सकता है।

आइए देखते हैं कि इस blog पर किस प्रकार की जानकारियाँ आप प्राप्त कर सकते हैं-

1-

Free EBooks in Hindi



जी हाँ इस blog पर आप free Hindi eBooks प्राप्त कर सकते हैं। FREE एक ऐसा word है जिसे प्रत्येक व्यक्ति पसंद करता है और सभी Students चाहते हैं कि उन्हें free eBooks प्राप्त हो। इसलिए हमारा यह प्रयास है कि हम छात्रों को free में eBooks उपलब्ध कराएँ।

2-

Study tips, Exam tips in Hindi



इस blog पर Study और exam preparation से सम्बन्धित जानकारियाँ हिन्दी में प्रकाशित की जाएंगी ।

3-

Practice Sets/Example paper in Hindi



शायद आप जानते ही होंगे कि "Practice makes a man perfect" इसलिए हम इस blog पर practice sets और Example paper Hindi में प्रकाशित करेंगे।

4-

Success Stores in Hindi



Success stories सभी को motivate करती हैं और मुख्य रूप से Students को इस तरह की Stories की बहुत जरुरत होती है अतः हम इस blog पर motivational stories Hindi में प्रकाशित करेंगे।

5-

Biography of Great People in the World



इस blog पर कुछ महान व्यक्तियों की जीवनी प्रकाशित की जाएगी जिससे आप यह जानें की success के लिए किस प्रकार से मेहनत करने की जरूरत पड़ती है।

6-

Job Info in Hindi



लगभग प्रत्येक Student यह चाहता है कि उसे मनपसंद नौकरी मिले। इसलिए हम इस blog पर सप्ताह में एक बार job information Hindi में दिया जाएगा।

7-

Health tips in Hindi



शायद आप यह जानते ही होंगे कि "स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का वास होता है।"

और आप यह भी जानते होंगे कि बिना स्वास्थ्य के हम कोई भी कार्य कर नहीं सकते हैं। इसलिए हम इस blog पर कुछ साधारण Hindi health tips प्रकाशित करेंगे।

इसके अलावा भी बहुत सारी जानकारियाँ इस blog पर प्रकाशित की जाएंगी। बस आप इस blog से जुड़े रहिए और अन्य लोगों को भी जोडने का प्रयास करें जिससे उन्हें भी लाभ प्राप्त हो।

अगर यह post आपको पसंद आयी हो, तो इसे Social Media पर share करना न भूलें और किसी भी प्रकार के सुझाव या सवाल के लिए comment जरूर करें। Thanks!

बुधवार, 19 अक्तूबर 2016

5 कारण जानिए आपको music क्यों सुनना चाहिए


5 कारण जानिए music क्यों सुनना चाहिए

5 कारण जानिए music क्यों सुनना चाहिए-



Hi friends, आज का topic बहुत ही interesting है "". जी हाँ आज की post में हम यही देखने जा रहे हैं कि music सुनने का क्या लाभ है।

Music एक ऐसा word है जिसको सुनते ही हमारा मन झूमने लगता है। Music सुनना छोटे,बड़े सभी लोगों को पसंद होता है,दुनिया में शायद ही कोई इंसान हो जिसको संगीत से प्रेम न हो।

दोस्तों music को केवल फिल्मी गीतों को नहीं कहतें हैं। संसार में पाये जाने सभी वस्तुओं में music पाया जाता है बस वह हम पर depend करता है कि हम उसे कैसे feel करते हैं और कैसी music like करते हैं।

तो आइए दोस्तों जानते हैं कि music सुनने के क्या लाभ हैं-

Advantage of Music



1-

Tension Killer



Music को no.1 tension killer माना गया है। जब भी आप अपने को तनाव में महसूस करें तब केवल 5 minutes के लिए headphone/ear buds को अपने कानों में लगाएँ और अपनी पसंद का एक गाना सुनें। एक lovey song जो आपकी पसंद का हो आपके सारे तनाव को सेकेंडों में खत्म कर सकता है। इसे आप खुद try करके देख सकते हैं।

2-

Golden for Students



जी हाँ music students के लिए gold ही है। और मेरा मानना है कि सभी students को music सुनना चाहिए क्योंकि यह ज्यादा देर तक पढ़ाई करने में सहायता करता है और mind को fresh करता है। यकीन मानिए अगर आप लगातार कई घंटों तक पढना चाहते हैं तो आप music की help ले सकते हैं। और अगर आप बाहरी शोर आदि परेशानियों से बचना चाहते हैं तो अपना headphone लगाइए और पढिए। दोस्तों मैं भी एक student हूँ और music से मुझे बहुत लाभ हुआ है।

3-

Anger Killer



क्या आपको छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आता है Don't worry इसका इलाज बहुत ही simple है,आज से ही music सुनना शुरू कीजिए और कुछ दिनों बाद आपका गुस्सा अपने आप ही खत्म हो जाएगा क्योंकि एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार music सुनने वाले लोग, music न सुनने वालों की अपेक्षा कम क्रोधित होते हैं।

दोस्तों क्रोधित होकर हम अपना ही नुकसान करते हैं और बाद में पश्चाताप करते हैं इसलिए जब भी आपको लगे की आपका क्रोध बढ रहा है तो तुरंत अपना headphone लगाइए और मात्र 10 minutes बाद आपका सारा क्रोध गायब हो जाएगा।

4-

Perfect Mood Changer



Music को एक बहुत ही बढिया mood changer माना गया है आप किसी भी प्रकार के नकरात्मक विचारों (Negative Thoughts) में डुबे हो अगर आप music सुनें तो आपका mood मिनटों में बदल जाएगा और positive सोचने लगेंगे।

5-

SourceOf Happiness



आपने देखा होगा कि जब हम music सुनते हैं तो अपने आप को खुश महसूस करते हैं। और यह तो आप जानते ही हैं कि मनुष्य की खुशी में मुख्य बाधा उसका Negative Thoughts, Tension etc. ही होते हैं, जिनको music सुनकर कम किया जा सकता है, जिससे Happiness बढ़ता है।

और मेरा मानना है कि खुशी से बढ़कर कुछ भी नहीं है क्योंकि अगर हम खुश नहीं रहेंगे तो कोई भी काम मन लगाकर नहीं कर सकते हैं।

इसलिए "

Make Happy, Be Happy"



आपने ऊपर देखा की music हमारे life में कितना important है।

तो दोस्तों जल्दी से comment करें और बताएँ की आज की post आपको कैसा लगा।

कभी भी लगातार 45 minutes से ज्यादा music न सुनें क्योंकि कोई भी काम limit में हो, तो अच्छा होता है।

अगर आपको यह article पसंद आया हो,तो कृपया social media पर share करना न भूलें।

अगर आपके पास कोई motivational story, study tip, business tips etc. हो तो आप उसे हमारे साथ हमारी e-mail id पर share कर सकते हैं, पसंद आने पर उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित किया जाएगा।

हमारा email id है-

sky81534@hotmail.com

Thanks! पढते रहिए StudyTrac.

रविवार, 16 अक्तूबर 2016

महान लोगों के अनमोल विचार


motivational quotes in Hindi

महान लोगों के अनमोल विचार
Motivational Quotes in Hindi


Hi friends, StudyTrac पर आपका स्वागत है। इस post में हम कुछ महान लोगों के विचारों को जानेंगे। दोस्तों इन विचारों को मैं personally बहुत पसंद करता हूँ और आशा करता हूं कि ये आपको भी पसंद आएगें।

आपके मन यह सवाल जरूर आता होगा की महान व्यक्तियों के विचारों को पढकर मुझे क्या लाभ होगा या मुझे इस तरह लेख क्यों पढने चाहिए ?

तो आइए जानते हैं-

Importance of Motivational Quotes:



दोस्तों कभी-कभी हमारे मन में किसी बात(Eg. career, job, exam, relations etc.) को लेकर घबराहट,चिंता उत्पन्न हो जाती है जिसके कारण हम खुद को बहुत अकेला और निराश महसूस करने लगतें हैं। ऐसे समय में इस तरह के लेख हमारी चिंताओं और परेशानियों को कम करते हैं और हमारे अन्दर एक नयी ऊर्जा आ जाती है।

दुसरा सबसे बड़ा कारण यह है की हमारे अंदर जीने की नयी एक कला(एक नया अंदाज) आ जाती है। और हमें यह समझ में आने लगता है कि आगे क्या करना चाहिए।

विचारों का मतलब जो हम सोचते या कल्पना करते है। अगर आप यह कहेंगे कि कोई भी सोच सकता है, फिर हमें महान व्यक्तियों के विचारों को ही fallow करना चाहिए ? क्योंकि उनके विचार अनुभव(Experience) से आते हैं और हम केवल बैठे-बैठ सोचने लगते।

दोस्तों उपरोक्त वाक्य का अर्थ यह नहीं है कि हमें सोचना ही बन्द कर देना चाहिए। हमें अपने मन में नये-नये विचारों को लाना चाहिए क्योंकि किसी महान दार्शनिक ने कहा है

"आपके विचार जहाँ तक जाते हों, वहाँ तक ले जाइए क्योंकि अपने विचारों को रोकने का अर्थ अपने व्यक्तिगत विकास को रोकना है।"



तो आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ महान विचारों को-

Motivational Thoughts In Hindi.



1- "सत्य तो यही है कि कोई किसी को गुमराह नही करता बल्कि हम स्वयं ही गुमराह होते हैं।"

- रवीन्द्र नाथ टैगोर

2- " जीवन में जो जितना दुख उठाता है वह उतना ही आनंद पाता है, जीवन का आनंद ही सुख-दुख में निहित है।"

-रवीन्द्र नाथ टैगोर

3-" तुम अपने जीवन पथ पर अकेले चलो। अपने मार्ग को देखो पहचानो और आगे बढ़ते जाओ। इसकी चिंता न करो कि दुनिया तुम्हें क्या कहती है।"

4- ज्ञान पठन-पाठन से नहीं अनुभव से आता है।

5- अगर कोई भी व्यक्ति किसी काम को बेहतरीन ढंग से कर सकता है,तो मैं कहूँगा की उसे एक मौका दे जिससे वह खुद को साबित कर सके।"

6-"जब लोग आपको Copy करने लगें तो समझ लेना जिंदगी में Success हो रहे हों।"

7-"प्रत्येक व्यक्ति अपनी काबिलियत के अनुसार प्रतिभावान होता है परन्तु हम उसे उसकी प्रतिभाओं से हटाकर परखें तो वह खुद को मुर्ख समझेगा।"

8-"जीतने वाले अलग चीजें नहीं करते, वो चीजों को अलग तरह से करते हैं।"

9-"यदि लोग आपके लक्ष्य पर हस नहीं रहे हैं तो समझो आपका लक्ष्य बहुत छोटा हैं।"

10-"दूसरों को सुनाने के लिये अपनी आवाज ऊँची मत करिए, बल्कि अपना व्यक्तित्व इतना ऊँचा बनाइये कि आपको सुनने की लोग मिन्नत करें।"

11-"कभी भी नदी की गहराई दोनों पैर से मत नापें।"

- वारेन वुफे

12-"इंतजार करना बंद करिए, क्योकिं सही समय कभी नही आएगा।"

13-" जो भी काम करना चाहते हो उसे मन लगाकर करो। पढना है तो मन लगाकर पढो, business करना तो मन लगाकर करो, ऐसा शोर मचा दो की दुनिया देखे तो कहे कि कोई शेर आ रहा है।"

-actor of South Indian movie “ Business Man"

14-"आपका खुश रहना ही आपका बुरा चाहने वालो के लिए सबसे बडी सजा हैं।"

15-"जिस दिन आपके signature Autograph में बदल जाएंगे, उस दिन आप बड़े आदमी बन जाओगें।"

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी, comment करके जरूर बताएँ।

अगर यह post आपको पसंद आयी हो तो social media(eg-Facebook, google+, twitter etc.) पर share करना ना भूलें।

अगर आपके पास भी कोई motivational story, success story, study tip, exam tip etc. हो तो आप उसे हमारे साथ हमारे email id पर share कर सकते हैं,पसंद आने उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित किया जाएगा।

हमारी email id है- sky81534@hotmail.com

धन्यवाद ! पढते रहिए StudyTrac .

गुरुवार, 13 अक्तूबर 2016

Success story:मैडम क्युरी की जीवनी


Biography of Marie curie <

Biography of Marie curie



Hi friends ज्ञान की दुनिया StudyTrac पर आपका स्वागत है क्या आप जानते हैं कि रेडियम का खोज किसने किया ? जी हाँ मॅारी क्युरी ने,उनको मैडम क्युरी के नाम से भी जाना जाता है।

आज का विचार



"कोशिश करना न छोड़े, गुच्छे की आखिरी चाबी भी ताला खोल सकती हैं।"


आज की इस post में हम उन्हीं के बारे में जानेंगे। दोस्तों मॅारी क्युरी का नाम दुनिया की सबसे महान वैज्ञानिकों में लिया जाता है उनके कारण ही आज कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का इलाज संभव हो चुका है तथा x-ray मशीनों का आविष्कार हुआ है।

मैडम क्युरी का जन्म 7 नवंबर सन् 1867 ई० में पोलैंड के एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था इनके माता-पिता एक छोटे से स्कूल में पढाते थे ।

मैडम क्युरी के बचपन का नाम मान्या था उनकी तीन बहन तथा एक भाई था। उनकी बड़ी बहन का नाम जोशिया,उससे छोटी बहन का नाम ब्रोन्या,उससे छोटी का नाम हेला तथा भाई का नाम जोजफ था।

यह अपनी भाई-बहनों में सबसे छोटी थीं। इनकी पिता का नाम व्लादिस्लाव स्कोलोडोव्स्की तथा माँ का नाम मादाम स्कोलोडोव्स्का था। इनकी माँ तपेदिक(T.B) से पीड़ित थी।

उस समय पोलैंड पर रूस के जार का शासन था तथा पोलैंड के नागरिकों पर तरह-तरह के अत्याचार किया जाता था। औरतों के ऊपर तो और अत्याचार होता था। पुरे पोलैंड में औरतों का विश्वविद्यालय में पढना मना था कोई भी लड़की विश्वविद्यालय नहीं जा सकती थी।

उस समय पोलैंड के सभी स्कूलों और कॉलेजों में रूसी भाषा में पढाई होती थी । पोलैंड वासी अपनी मातृभाषा पोलिश नहीं बोल सकते थे अगर किसी व्यक्ति को पोलिश भाषा का प्रयोग करते हुए पकड़ा जाता तो उसे कड़ी सजा दी जाती थी। स्कूलों और कॉलेजों के बाहर पुलिस का सख्त पहरा रहता था।

फिर भी कुछ स्कूलों में चोरी-चोरी पोलिश भाषा पढाया छाता था तथा छोटे-छोटे स्कूल लड़कियों के लिए भी चलाया जाता था। ऐसे ही एक स्कूल में मान्या पढ़ने जाती थीं। मान्या पढ़ने में बहुत तेज थी।

जिस स्कूल में मान्या के पिता पढाते थे उसका principle मोशिये इवानोव एक रूसी जासूस था । मान्या के पिता में देशप्रेम की भावना थी। अलग-अलग विचारों की वजह से मान्या के पिता और उस principle में अक्सर झगड़ा होता रहता था। Principle मान्या के पिता को स्कूल से निकालना चाहता था और मौके की तलाश में था। आखिर एक दिन उसने व्लादिस्लाव को नौकरी से निकाल ही दिया।

मान्या का परिवार पहले से ही गरीबी में किसी तरह जीवन-यापन कर रहा था,व्लादिस्लाव की नौकरी छूट जाने के कारण उनके ऊपर, दुखों का पहाड़ टुट पडा।उसके बाद मान्या के पिता ने एक छोटे से स्कूल में नौकरी कर लिया ।

धीरे-धीरे इनकी माँ की तबीयत बिगडने लगी तथा कुछ समय बाद उनकी तथा मान्या की बड़ी बहन की मृत्यु हो गई ।

कुछ समय बाद मान्या का भाई जोजफ तथा उसकी बहन ब्रोन्या ने अपने school के final exam में Gold Medal प्राप्त किया। उसके बाद जोजफ अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करने विश्वविद्यालय चला गया। ब्रोन्या भी आगे पढना चाहती थी लेकिन पोलैंड में लड़कियों को विश्वविद्यालय में प्रवेश की अनुमति नहीं होने के कारण उसे विश्वविद्यालय में प्रवेश नहीं मिला।

इसलिए उसने आगे की पढ़ाई पूरी करने के लिए विदेश जाने का निश्चय किया लेकिन पर्याप्त पैसे न होने के कारण नहीं जा पायी।

मान्या सबसे अधिक नम्बरों से स्कूल की final exam मे पास हुई। अब उनके सामने भी वही परेशानी आई वह भी अपनी पढ़ाई पूरी करने पेरिस जाना चाहती थीं लेकिन पैसे नहीं होने के कारण नही जा पायी। अत: दोनों बहनों ने छोटे बच्चों को पढाने का निश्चय किया।

जब कुछ पैसे इकट्ठे हो गये तो ब्रोन्या पेरिस चली गई। वहाँ जाने के एक वर्ष बाद उसने काशिमिर नाम के एक डाक्टर से शादी कर लिया और उसने मान्या को अपने पास बुला लिया।

मान्या का Admission पेरिस विश्वविद्यालय में हो गया तथा वह अपने बहन के घर आराम से रहने लगी। लेकिन वह सारा वक्त ब्रोन्या के साथ बातें करने में बिता देती थीं और पढने के लिए समय नहीं बचता था। इसलिए उन्होंने दुसरी जगह कमरा किराये पर ले लिया।यहाँ अब मान्या को कोई भी परेशान करने वाला नहीं था इसलिए वह आराम से पढतीं थीं उनको पढनें में बहुत आनन्द आता था कभी-कभी तो वह पढनें में इतना व्यस्त हो जाती कि भोजन का भी ध्यान नहीं रहता। उनका कमरा छठी मंजिल पर था और उनके पास सर्दी से बचने के लिए कुछ कपड़े और एक कम्बल के अलावा कुछ भी नहीं था।

जब सर्दी पड़ने लगती तो मान्या अपने सभी कपड़ों और कम्बल को ओढकर पढती रहती थीं जब लिखते-लिखते उनका हाथ जम जाता तो वह लिखना बंद करती थीं। सर्दी इतनी पडती थी कि बर्तनों में रखा हुआ पानी जम जाता था।आप समझ सकते हैं कि उतनी ठण्ड में मान्या कैसे रही होगी। अपनी लापरवाही की वजह से मान्या बीमार पड़ गयीं। जब ये बात उनकी बहन ब्रोन्या को पता चली तो उसने मान्या को अपने पास रख लिया और उनकी खूब सेवा की जिससे मान्या कुछ ही दिनों बाद स्वस्थ हो गयीं और फिर अपने कमरे में चली गईं।

जब पहले वर्ष का परिणाम आया तो मान्या पुरे विश्वविद्यालय में प्रथम आयीं।कुछ समय बाद मान्या ने विश्वविद्यालय के एक शिक्षक पियरे क्युरी से शादी कर लिया। उनके पति पियरे को भी विज्ञान में रुचि थी। अब दोनों पति-पत्नी साथ मिलकर नयी-नयी खोज करते रहते। पियरे और मान्या का मिलन इतिहास में एक महत्वपूर्ण घटना मानी जाती है। हालांकि मान्या के सभी दुखों का अंत हो चुका था लेकिन पैसों की कमी अभी भी बनी हुई थी।

सन् 1897 ई० में पियरे और मान्या को एक पुत्री की प्राप्ति हुई,उसका नाम ईरीन रखा गया।(ईरीन ने भी विज्ञान के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान दिया है,इसके लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार भी प्राप्त हुआ है।)

सन् 1898 ई० में पियरे और मान्या ने मिलकर एक नये तत्व पोलोनियम तथा सन् 1902 ई० में रेडियम का खोज किया। सन् 1903 ई० में मान्या तथा पियरे को उनकी खोजों के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया।उसके कुछ दिनों बाद मान्या की दुसरी बेटी हुई जिसका नाम ईव रखा गया।उसके बाद एक सड़क दुर्घटना में पियरे की मृत्यु हो गई।

पियरे की मौत के बाद मान्या सारबान विश्वविद्यालय में विज्ञान की पहली महिला अध्यक्ष बनीं ।

सन् 1911 ई० में। मान्या को फिर नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान दिया है पति की मृत्यु के बाद इन्होंने कई प्रयोगशालाओं का निर्माण कराया,यह सभाओं में जाकर नये वैज्ञानिकों का हौसला बढाती थीं।

रेडियम को बार-बार छुने की वजह से उन्हें कैंसर हो गया और सन् 1934 ई० में वह दुनिया छोड़कर चली गईं।

ऐसे महान लोगों को हम नमन करते हैं। उन्होंने केवल विज्ञान पर ही खोज नहीं किया है बल्कि आज वह हमारे बीच एक नयी प्रेरणा का स्रोत हैं जो यह बात सिद्ध करती हैं कि

सफलता के लिए पैसे की नहीं,मेहनत और लगन की जरुरत होती है।



तो दोस्तों आज का यह Article आपको कैसा लगा comment के माध्यम से हमें जरूर बताएँ।

अगर आपको यह Article पसंद आया हो,तो Social Networks पर जरूर share करें।

अगर आपके पास भी कोई motivational story, success story, study tips, exam tips, health tips etc. हो,तो आप हमारे साथ (email- sky81534@hotmail.com) share कर सकते हैं। पसंद आने पर उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित किया जाएगा।

धन्यवाद. पढ़ते रहिए StudyTrac . image source: Wikipedia

सोमवार, 10 अक्तूबर 2016

success story: B.T Washington की जीवनी


Autobiography of The First President of America

SUCCESS STORY:अमेरिका के B.T Washington की जीवनी





Brooker T. Washington

Hi friends, Welcome to StudyTrac आज की post बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इस blog पर यह पहली

motivational story

है तथा यह

U.S.A के लोकप्रिय नीग्रो नेता ब्रोकर टी. वाशिंगटन(Brooker T. Washington)

के द्वारा लिखा गया autobiography है।

नीग्रो(Negro){ America में African काले व्यक्तियों को Negro कहा जाता है।} इस शब्द से शायद आप परिचित ही होगें। क्या आप जानते हैं कि Washington नीग्रो थे।

Washington का जन्म सन् 1856 ई० में अमेरिका के Virginia राज्य में एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था।

इनका परिवार इतना गरीब था कि इन्हें किसी-किसी दिन भोजन भी नही मिलता था और इनको तथा इनके परिवार को दिनभर मजदुरी करना पड़ता था।

इनके समय में अमेरिका तथा यूरोपीय देशों में नीग्रो लोगों को बहुत सताया जाता था,उनसे बंधुआ मजदूरी कराई जाती थी तथा उनको पढने-लिखने की अनुमति नहीं थी और उनलोगों के साथ गोरे लोग पशुओं की तरह व्यवहार करते थे।

उसके बावजूद Washington केवल पढ़े ही नहीं एक लोकप्रिय नेता और अमेरिका के राष्ट्रपति का प्रमुख सलाहकार भी बन गए।

यह लेख

"My Struggle For An Education"

नामक Washington के द्वारा लिखी गई Autobiography से लिया गया है।

आगे उन्हीं के शब्दों में->

एक दिन कोयले की खान में काम करते समय मैंने दो मजदूरों को Virginia में स्थित एक विद्यालय के बारे में बात करते हुए सुना जो काले लोगों के लिए खोला गया था। यह पहला अवसर था जब मैं किसी ऐसे विद्यालय के बारे में सुन रहा था जो काले रंग के विद्यार्थीयों के लिए बना था।

जब वे लोगों उस विद्यालय का वर्णन कर रहे थे तब मुझे ऐसा प्रतीत हुआ कि यह जरूर दुनिया की सबसे महान जगह होगी। उस समय मुझे स्वर्ग भी उतना आकर्षक प्रतीत नहीं हुआ,जितना Hampton Normal And Agricultural Institute of Virginia जिसके बारे में ये लोग बात कर रहे थे।

मैंने उसी समय विद्यालय में जाने का निश्चय कर लिया हालांकि मुझे कोई idea नही था कि यह कहा है? या कितना दुर है? या मैं वहाँ कैसे जाऊंगा?

मेरे दिमाग में हमेशा Hampton जाने का विचार उत्पन्न हो रहा था मैं रात-दिन इसी के बारे में सोचता था।

सन् 1872 ई० के पतझड़ के मौसम में मैंने वहाँ जाने का निश्चय किया। मेरी माँ डर से परेशान थीं कि मैं एक असंभव कार्य करने जा रहा हूँ । किसी तरह से उन्होंने आधे मन से मुझे स्वीकृति दिया। मेरे पास कपड़े खरीदने और रास्ते के खर्च के लिए बहुत ही कम पैसे थे,मेरे भाई जॅान जितना कुछ मेरे लिए कर सकता था उसने किया ,लेकिन फिर भी मेरे लिए वह पर्याप्त नहीं था।

अंततः वह महान दिन आ गया और मैं Hampton के लिए निकल गया,मेरे पास केवल एक सस्ता बैग था जिसमें मेरे कपड़े थे। उस समय मेरी माँ बहुत ही बीमार और कमजोर थीं मुझे लगता था कि मैं इनसे दुबारा नहीं मिल पाऊंगा,इसलिए उस समय का बिछुड़ना मुझे अधिक दुखदायी प्रतीत हुआ।फिर भी उन्होंने हिम्मत बनाए रखी।

Malden से Hampton की दुरी लगभग 500 मील थी। पैदल चलकर,गाड़ियों में lift लेकर और किसी तरह मैं Virginia के एक शहर Richmond में पहुँच गया,जहाँ से Hampton 80 मील दुर था।मैं रात्रि में वहाँ पहुँचा,मैं थका हुआ,भूखा था और मेरे कपड़े गन्दे हो चुके थे।

मैं कभी एक बड़े शहर में नहीं गया था इसलिए इसने मेरी परेशानी और बढा दिया। जब मैं यहाँ पहुँचा,मेरे सारे पैसे खत्म हो चुके थे और यहाँ मेरा कोई परिचित नहीं था। चकाचौंध के कारण मुझे यह नहीं समझ में आ रहा था कि कहाँ जाऊं। मैंने रात्रि-विश्राम के लिए कई जगह पूछा लेकिन सभी पैसे माँग रहे थे और यही एक ऐसी चीज़ थी जो मेरे पास नहीं थी। कोई दूसरा उपाय नहीं होने कारण मैं सड़कों पर टहलने लगा।

मैं लगभग मध्य रात्रि तक टहलता रहा,अंत में मैं इतना थक गया कि मैं और नहीं टहल सकता था

मैं थका हुआ था,भूखा था,मैं सबकुछ था लेकिन निराश नहीं था।

जब मैं अत्यंत थक गया तब मैं एक ऐसे जगह आ गया जहाँ सड़क का एक किनारा थोड़ा उठा हुआ था। मैंने कुछ क्षण प्रतीक्षा किया,जब मुझे लगा कि अब कोई मुझे देख नहीं रहा है तब मैंने अपने कपड़ों के बैग का तकिया बनाया और सडक के किनारे लेट गया।पूरी रात जुते-चप्पलों के आवाज़ के कारण मैं सो नहीं पाया।

अगली सुबह मैंने अपने आप को कुछ ताजा महसूस किया,लेकिन मैं बहुत भूखा था। जब उजाला हुआ तो मैंने देखा कि मैं एक बंदरगाह के पास हूँ,जहाँ एक जहाज लगा हुआ था तथा उस जहाज पर इस्पात लदा हुआ था। मैं जहाज के कप्तान के पास गया और उससे कहा कि वह मुझे कुछ काम दे जिससे मैं भोजन के लिए कुछ पैसे प्राप्त कर सकूँ।

कप्तान,जो एक अंग्रेज था, मुझे दयालु प्रतित हुआ।उसने मुझे काम करने की आज्ञा दे दिया। मैंने पैसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत की और उसके बाद नाश्ता किया। मुझे आज तक याद है यह मेरे जीवन में खाया गया सबसे Best Break fast था।

मेरे कार्य से कप्तान बहुत प्रसन्न हुआ और उसने मुझे कुछ पैसों के लिए रोज काम करने की अनुमति दे दिया।मैंने उस जहाज पर कई दिनों तक काम किया । भोजन खरीदने के बाद Hampton जाने के लिए मेरे पास ज्यादा पैसे नहीं बच पाते थे।पैसो की कुछ बचत करने के लिए मैनें सड़क पर सोना चालू कर दिया।

जब Hampton जाने के लिए पर्याप्त पैसे इकट्ठा हो गए तब मैंने जहाज के कप्तान को उसकी दया के लिए धन्यवाद दिया और अपनी यात्रा पर पुनः निकल पड़ा। बिना किसी अप्रिय घटना के मैं Hampton पहुंच गया। उस समय मेरे पास अपनी पढ़ाई प्रारंभ करने के लिए 50 cents बचे हुए थे।उस विद्यालय के तीन मंजिला भवन को देखकर मैं अपनी यात्रा के सारे कष्ट भूल गया।उस दृश्य ने मुझे नया जीवन दिया।

शीघ्र ही Hampton Institute के मैदान में पहुंचने के बाद मैंने खुद को assignment के लिए principal के सामने उपस्थित किया।कई दिनों से अनियमित भोजन,बिना स्नान और गन्दे कपड़ों के कारण मैं उनको प्रभावित नहीं कर सका। उनके मन में मुझे एक student के रूप में admit करने में confusion था। मैं उनके आसपास ही चक्कर लगाता रहा और हर हर प्रकार से उन्हें प्रभावित करने की कोशिश करता रहा।उसी बीच मैंने उन्हें दूसरे लडकों को admit करते हुए देखा जिससे मेरी बेचैनी बढ गई। मैंने अपने मन की गहराई से महसूस किया कि अगर मुझे एक मौका मिले तो मैं भी उन लडकों की तरह काम कर सकता हूँ।

कुछ घंटों बाद head teacher ने मुझसे कहा कि बगल वाले संगीत कक्ष में सफाई की जरूरत है,झाडू लेकर उसे साफ कर दो।

मेरे लिए वह बढिया अवसर था कभी भी कोई आदेश पाकर मुझे इससे अधिक प्रसन्नता नहीं हुई थी।

मैंने संगीत कक्ष को तीन बार साफ किया,फिर झाडन से चार बार झाडा। दीवार के चारो ओर,सभी फर्नीचर तथा कमरे के सभी कोनों बढियां से साफ़ किया। जब मेरा काम पूरा हो गया तो मैंने Head Teacher को बताया।वह एक Yankee(उत्तरी अमेरिका में रहने वाले लोग) महिला थी जो यह जानती थी कि धूल कहाँ हो सकती है। वह कमरे में आई और फर्श तथा आलमारियों का निरीक्षण किया उसके बाद उसने अपना रूमाल निकला और सभी वस्तुओं पर रगड़ कर देखा,जब उसे कहीं धुल नहीं मिला तो उसने मुझसे कहा कि मैं उस विद्यालय में प्रवेश पाने योग्य हूँ।

उस समय मैं दुनिया में सर्वाधिक प्रसन्न व्यक्तियों में से एक था। उस कमरे की सफाई मेरे लिए परीक्षा थी। उसके बाद मैंने बहुत सी परीक्षाएँ पास किया लेकिन वह अबतक पास की गयी परीक्षाओं में सर्वश्रेष्ठ थी.............

दोस्तों यह था अमेरिका के लोकप्रिय नीग्रो नेता

Brooker T. Washington

द्वारा लिखा हुआ Autobiography.

School में admit होने के बाद Washington ने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा वह लगातार सभी exams pass करते गये और दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश के लोकप्रिय नेता भी बन गए ।

जरा सोचिए अगर एक सड़क पर सोने वाला,कोयले के खान में काम करने वाला राष्ट्रपति सलाहकार बन सकता है तो आप अपने लक्ष्य को क्यों नहीं प्राप्त कर सकतें हैं?

दोस्तों

सफल होने के लिए दृढ़ संकल्प और लगन

की जरुरत होती है।

Studytrac ईश्वर से प्रार्थना करता है कि आप अपने लक्ष्य को अवश्य प्राप्त करें।

दोस्तों यह post आपको कैसा लगा comment के माध्यम से अवश्य बताएँ।

अगर आपको यह post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ

Share

करना ना भूलें।

अगर आपके पास

motivational story, success story, exam tips, business tips

etc. है तो आप उसे हमारे साथ (email id-sky81534@hotmail.com) share कर सकते हैं।पसंद आने पर उसे आपके नाम व फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित किया जाएगा।

धन्यवाद! पढ़ते रहिए StudyTrac.

Important Notice


Important Notice

Important Notice





Hi friends, welcome to StudyTracआज से इस blog पर Hindi study notes pdf में प्रकाशित किया जाएगा, आप इसे free download कर सकते हैं।हमारे बहुत से पाठकों ने इन notes को offline उपलब्ध कराने के लिए हमें email किया है।

फिलहाल pdf notes तैयार किया जा रहा है तथा बहुत ही जल्द download करने के लिए उपलब्ध हो जाएगा।

आज से StudyTrac पर Success Stories, motivational stories, success quotes, life stories of great people in the world, health tips, exam-tips तथा और भी बहुत कुछ Hindi में प्रकाशित किया जाएगा।

दोस्तों हमारा उद्देश्य Hindi को पूरे संसार में प्रसिद्ध करना है और हम चाहते हैं कि आप भी इस नेक काम में हमारी मदद करें। इसी कारण यह blog हिन्दी में लिखा गया है।

आप इस blog पर प्रकाशित जानकारियों को Social Media पर Share करके हिन्दी भाषा का प्रचार और प्रसार कर सकते हैं।

धन्यवाद! पढ़ते रहिए StudyTrac

रविवार, 2 अक्तूबर 2016

नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ


नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ

शुभ नवरात्रि

Hi friends, ज्ञान की दुनिया StudyTrac पर आपका स्वागत है।

StudyTrac के सभी पाठकों को नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ।

अभी तक StudyTrac पर सिर्फ Highschool study notes के कुछ भाग ही प्रकाशित किया गया है। लेकिन बहुत ही जल्द इसपर 9th,10th,11th & 12th के

study notes Hindi

में प्रकाशित किया जाएगा तथा भविष्य में आप इसपर

Free eBooks,Success Stories, Exam Tips, Study Tips, Business Tips, Job Information, Biography of Great Peoples in The World

तथा और भी बहुत कुछ(जो एक students के लिए आवश्यक हो) प्राप्त कर सकते हैं,और वो भी हिन्दी में।

हमारा लक्ष्य,StudyTrac को हिन्दुस्तान काNo.1 educational blog बनाना है। StudyTrac पर प्रकाशित post को Social Networks पर Share करके StudyTrac. को No.1 educational blog of India बनाने में आप हमारी सहायता कर सकते हैं।

धन्यवाद, पढ़ते रहिए StudyTrac.

रविवार, 11 सितंबर 2016

Organic Chemistry in Hindi कार्बनिक रसायन


Organic Chemistry in Hindi कार्बनिक रसायन

Organic Chemistry in Hindi(कार्बनिक रसायन)

Highschool Science Notes in Hindi
हाईस्कूल विज्ञान नोट्स

Part-8

Hi friends ज्ञान की दुनियाStudyTrac पर आपका स्वागत है।

आज मैं आपके साथ Highschool Science Notes का 8th part share करने जा रहा हूँ।

आज हम कार्बनिक रसायन(Organic Chemistry) से सम्बन्धित बात करने जा रहे हैं।

आज का विचार(Today's Thought)

जिसके पास विद्या है वह शक्तिशाली है निर्बुद्ध पुरुष के पास क्या शक्ति हो सकती है? एक छोटा खरगोश भी चतुराई से मदमस्त हाथी को तालाब में गिरा देता है।

From चाणक्य नीति

कार्बनिक रसायन
Organic Chemistry-

रसायन विज्ञान की वह शाखा जिसमें कार्बनिक यौगिकों का अध्ययन किया जाता है, Organic Chemistry कहलाता है।

कार्बनिक रसायन से संबंधित कुछ तथ्य
Some Facts Related To Organic Chemistry-

1-ब्रह्मांड(Universe) में पाए जाने वाले लगभग सभी वस्तुओं में कार्बन पाया जाता है।

2-फ्रांस(France) के वैज्ञानिक बर्जीलियस(Berzelius) ने बताया था कि कार्बनिक यौगिक केवल जीवित(Living) वस्तुओं में ही पाया जाता है इसे प्रयोगशाला(Lab) में नहीं बनाया जा सकता है।

3-सर्वप्रथम कार्बनिक यौगिक को lab में जर्मनी(Germany) के वैज्ञानिक(scientist) फ्रेडरिक व्होलर(Fredric wholer) ने बनाया था।

उन्होंने अमोनियम सायनेट(NH4CNO) को गर्म करके यूरिया(Urea) प्राप्त किया था, जो एक कार्बनिक यौगिक है।

NH4CNO →(heat) NH2CONH2

4-पुरे ब्रह्मांड(Universe) में दूसरे तत्वों की अपेक्षा कार्बन के यौगिक सबसे अधिक पाए जाते हैं,क्योंकि इसमें श्रंखला(Series) बनाने का गुण सबसे ज्यादा पाया जाता है।

etc.


अब चूंकि हम organic chemistry के बारे में बात कर रहे हैं,तो कुछ कार्बन(Carbon) के बारे में जान लेना अच्छा रहेगा।



कार्बन Carbon-
प्रतिक(Symbol)-C

परमाणु क्रमांक(Atomic Number)-6

परमाणु भार(Atomic weight)-12

आवर्त सारणी में स्थान (Situation in Periodic Table)-

आवर्त(Period)-2

समुह(Group)- 14 or IVA

यह एक अधातु(non-metal) है यह ब्रह्मांड में लगभग सभी जीवित(living) या मृत(non-living) वस्तुओं में पाया जाता है।

गुण (It's qualities)-

1-इसको जलाने पर यह कार्बन डाई आक्साइड गैस बनाता है।

C + O2 → CO2

2-यह कई रूपों में पाया जाता है।

Eg- हीरा(Diamond),ग्रेफाइट(Graphite),कोयला(Coal) etc.

उपरोक्त सभी उदाहरण कार्बन के ही रूप हैं लेकिन सबकी संरचना(Structure) अलग-अलग है।

3-यह हाइड्रोजन के साथ अभिक्रिया करके मेथेन(Methane) गैस बनाता है।

C + 2H2 →CH4

etc.

<

उपयोग (It's Use)-

आज के युग में कार्बन बहुत की महत्वपूर्ण तत्व है,अगर कार्बन नहीं होता तो शायद हम जीने की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

हमारे उपयोग में आने वाली लगभग सभी वस्तुओं में कार्बन उपस्थित है इसके कुछ महत्वपूर्ण उपयोग निम्नलिखित हैं-

1-इसका उपयोग मेथेन गैस बनाने में होता है।

2-शराब(wine),पालिथीन(polythene), रबर(Rubber) इत्यादि वस्तुएं बनाने में।

3- डिब्बा बंद भोजन(Packed Food) तथा पेय पदार्थों(Cold Drinks) में कार्बन डाइ-आक्साइड का उपयोग होता है।

4-कार्बन का उपयोग पेड़-पौधों की उम्र का ज्ञात करने(कार्बन डेटिंग) में होता है।

5-दवाओं(Medicines) के निर्माण में।

etc.

हमनें ऊपर कार्बन के बारे में जाना,अब हम हाइड्रो-कार्बन के बारे में जानेंगे।

हाइड्रो-कार्बन (Hydro-Carbon) -

कार्बन तथा हाइड्रोजन से मिलकर बने हुए यौगिक को हाइड्रो-कार्बन कहते हैं।

Eg-CH4 , C2H6
etc.

Note-अगर किसी यौगिक(Compound) में कार्बन और हाइड्रोजन के अलावा और भी तत्व हों तब वह हाइड्रो-कार्बन नहीं होगा।

Eg-CH3COOH , C2H5OH इत्यादि यौगिकों में C और H दोनों उपस्थित हैं लेकिन ये हाइड्रो-कार्बन नहीं हैं क्योंकि इनमें Cऔर H के अलावा इनमें आक्सीजन(O) भी उपस्थित है।

ऊपर मैंने आपको बताया था कि कार्बन के यौगिक दूसरे तत्वों के यौगिकों के अपेक्षा अधिक पाए जाते हैं,क्योंकि इनमें श्रृंखला(Series) बनाने का गुण सर्वाधिक पाया जाता है, अब आइए जानते हैं कि कार्बनिक यौगिक कितने प्रकार की श्रृंखलाएँ बनाते हैं।

श्रृंखलाओं के प्रकार
Types Of Series -

कार्बनिक यौगिक मुख्यतः दो प्रकार की श्रृंखलाएँ बनाते हैं

1-खुली श्रृंखला(Open Chain or Aliphatic Compound)-

यह श्रृंखला सभी सिरों पर खुली होती है।
Eg-
study, success and job information in Hindi

2-बन्द श्रृंखला(Closed Chain or Cyclic Compound )-

इस श्रृंखला में कार्बन परमाणु चक्रिय(cyclic) रूप में एक-दूसरे से। जुड़े होते हैं।
Eg-
about organic chemistry in Hindi

अब हम रासायनिक बंध(Chemical-Bond) के बारे में जानेंगे।

रासायनिक बंध
Chemical Bond

कार्बन मुख्यतः तीन प्रकार के बंध बनाता है-

एकल बंध(Single Bond)-
Eg-
about organic chemistry in Hindi

द्विबंध(Double Bond)-
Eg-
about organic chemistry in Hindi

त्रिबंध(Triple Bond)-
Eg-
about organic chemistry in Hindi

शेष भाग next post में।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए कृपया मुझे email(sky81534@hotmail.com) करें।
about organic chemistry in Hindi
अगर यह post आपको अच्छी लगी हो,तो please अपने friends के साथ share करना ना भूलें।

पढते रहिएStudyTrac

thanks! <
Organic chemistry Hindi me,about organic chemistry in Hindi,about carbon in Hindi,carbonic rashayan Hindi me,carbon Hindi me,uses of organic chemistry in Hindi,organic chemistry ke upyog Hindi me, uses of carbon in Hindi, carbon ka upyog Hindi me.

रविवार, 28 अगस्त 2016

Ammonia gas अमोनिया गैस


Ammonia gas in Hindi अमोनिया गैस HIGHSCHOOL SCIENCE NOTES IN HINDI हाईस्कूल विज्ञान नोट्स
part-7


Hi friends studytrac पर आपका स्वागत है।आज हम अमोनिया गैस( Ammonia Gas) के बारे में जानेंगे।

जैसा कि मैंने पिछली post में आपको में बताया था कि यह Highschool Science के Most Important Topics में से एक है।

आज का विचार(Today's thought)
ऐसा कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है. ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है.अगर कोई पाप है, तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं।
Swami Vivekananda

अमोनिया(Ammonia)-

सबसे पहले प्रीस्टले(Pristale) ने सन् 1774 ई० में अमोनिया का निर्माण किया।

अणुभार(Atomic Weight)-17

रासायनिक सूत्र(Chemical Formula)- NH3

बनाने की विधि
(Method to make) -

अमोनिया गैस को बनाने की कई विधियाँ हैं जिनमें से प्रमुख नीचे दि गयी हैं-

1-नौसादर और बुझे हुए चूने को एक साथ गर्म करने पर अमोनिया प्राप्त होती है।

2NH4Cl + Ca(OH)2 → CaCl2 + 2H2O + 2NH3

2-कास्टिक सोडा(NaOH) और यूरिया(Urea) को एक साथ गर्म करने पर अमोनिया प्राप्त होती है।

NaOH + NH2CONH2 → Na2CO3 + 2NH3

3-नौसादर(Sal ammoniac) को किसी भी क्षार(Base) के साथ गर्म करने पर अमोनिया प्राप्त होती है।

Eg-
a-NH4Cl + KOH → KCl + H2O + NH3

b-NH4Cl + NaOH → NaCl + H2O + NH3

etc.

गुण
(It's properties)-

1-यह तीव्र गन्ध(Smell) वाली,रंगहीन(Colour Less) तथा क्षारीय(Basic) गैस है।

2-यह जल में घुलनशील है।

3-इसके जलीय विलयन में लाल लिटमस पेपर(Red Litmus Paper) डालने पर वह नीला(Blue) हो जाता है।

4-यह अम्लों से अभिक्रिया करके अमोनियम लवण बनाती है।

2NH3 + H2SO4 → (NH4)2SO4

5-यह कापर आक्साइड(CuO) से उच्च ताप पर अभिक्रिया करके नाइट्रोजन गैस(N2) बनाती है।

NH3 + 3CuO → 3Cu + 3H2O + N2

etc.

उपयोग
(It's use)-

1-यूरिया(Urea) बनाने में।

2-विस्फोटक पदार्थ बनाने में।

3-नाइट्रिक अम्ल(HNO3) बनाने में।

4-अश्रु गैस(Tear gas) बनाने में।

5- बर्फ(Ice) बनाने में।

etc.

शेष भाग next post में।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए कृपया मुझे email( sky81534@hotmail.com) करें।

अगर यह post आपको अच्छी लगी हो,तो please अपने friends के साथ share करना ना भूलें।

Thanks! पढते रहिए studytrac. about ammonia gas in Hindi,ammonia gas Hindi me,about NH3 in Hindi,qualities of ammonia gas in Hindi,uses of ammonia gas in Hindi,ammonia gas ke upyog Hindi me,Highschool science notes in Hindi.

बुधवार, 24 अगस्त 2016

Sulphur di oxide(सल्फर डाई आक्साइड)


Highschool science notes in Hindi Highschool science notes in Hindi
हाईस्कूल विज्ञान नोट्स

part-6

Hi friends, STUDYTRAC पर आपका स्वागत है।आज मैं आपको सल्फर डाई आक्साइड (sulphur di-oxide) गैस के बारे में बताने जा रहा हूँ।



Important notice-अब आप अपने browser में www.studytrac.tk लिखकर भी इस blog पर आ सकते हैं।

दोस्तों आज से मैंने decide किया है कि मैं प्रत्येक post में कुछ अच्छी बातें लिखा करूँगा, जिससे आपको पढाई के साथ-साथ नैतिक ज्ञान(moral knowledge) भी मिलता रहे।

आज का विचार(Today's thought)

“उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाये ।”
Swami Vivekananda

दोस्तों सल्फर डाई आक्साइड (sulphur di-oxide) और अमोनिया (ammonia) गैसें highschool के board के exam के दृष्टि से most important topics में से हैं।

अमोनिया (ammonia) gas के बारे में आपको next post में बताया जाएगा।
नौकरी सम्बन्धित जानकारी

सल्फर डाई आक्साइड(sulphur di-oxide)

रासायनिक सूत्र(chemical formula)-

SO2

आवर्त सारणी में स्थान
(status in periodic table)-

आवर्त(period)-3

वर्ग(Group)-16 or VI A

बनाने की विधि
(Method to make)-

SO2 गैस बनाने की कई विधियाँ हैं जिनमें से प्रमुख नीचे दिया गया है।

1-कापर(Cu) को सल्फ्यूरिक अम्ल(H2SO4) के साथ गर्म करने पर SO2 गैस प्राप्त होती है।

Cu+2H2SO4 → CuSO4+2H2O+SO2

2-सल्फर(S) को जलाने पर SO2 गैस प्राप्त होती है।

S+O2 → SO2



गुण ( It's properties)-

1-यह भीगे हुए रंगीन फूलों(flowers) को रंगहीन कर देती है। इस अभिक्रिया को विरंजन अभिक्रिया कहते हैं।
FIND BEST JOB FOR YOU

SO2+2H2 → H2SO4+2[H]

2-SO2 पोटैशियम परमैगनेट के जलीय विलयन को रंगहीन कर देती है।

2KMnO4 + 5SO4 + 2H2O → K2SO4 + 2MnSO4 + 2H2SO4

3-यह पोटैशियम डाईक्रोमेट(K2Cr2O7) के अम्लीय विलयन को हरा(green) कर देती है।

K2Cr2O7 + H2SO4 + 3SO2 → K2SO4 + Cr2(SO4)3 + H2O

4-यह क्षारों से अभिक्रिया करके सल्फाइट या बाईसल्फाइट यौगिक बनाती है।

Eg

a- Ca(OH)2 + SO2 → CaSO3 + H2O

b-NaOH + SO2 → NaHSO3

5-यह रंगहीन,तीक्ष्ण गंध वाली तथा जल में घुलनशील gas है। etc.

उपयोग (It's use)-

1-H2SO4 बनाने में।
GET A HIGH SALARY JOB

2-रेशम(silks) और ऊन (wool) बनाने में।

3-खाद्य पदार्थों को खराब होने से बचाने में।

4-चीनी(sugar) को शुद्ध करने में।

5-कीटाणुनाशक के रूप में।

शेष भाग next post में।

Important notice-अब आप अपने browser में www.studytrac.tk लिखकर भी इस blog पर आ सकते हैं।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए कृपया मुझे email(sky81534@hotmail.com) करें।

अगर यह post आपको अच्छी लगी हो,तो please अपने friends के साथ share करना ना भूलें।



Thanks! पढते रहिए studyTRAC.

about sulphur di oxide in Hindi,about SO2 in Hindi,use of SO2,सल्फर डाई आक्साइड का उपयोग, formula of sulphur di oxide,sulpher di oxide ka upyoge,how to make sulpher di oxide,sulpher di oxide kaise banaye,highschool ka vigyan notes,class 10th science notes in Hindi,qualities of sulphur di oxide in Hindi,best Hindi blog for students,best blog for Indian students,

रविवार, 14 अगस्त 2016

Periodic table(आवर्त सारणी)


Highschool Science Notes In Hindi PERIODIC TABLE IN HINDI आवर्त सारणी


Hi friends,आज मैं आपके साथ highschool chemistry notes का 5th part share कर रहा हूँ।पाइए एक HIGH SALARY नौकरी

Highschool science notes in Hindi
Part-5

आज मैं आपको आवर्त सारणी(Periodic table) के बारे में बताने जा रहा हूँ।शायद आप जानते ही होंगे की यह Highschool science के most important chapters में से एक है।

दोस्तों आज की इस post में हम periodic table का use, मेण्डलीफ(Mendeleev) की आवर्त सारणी,मेण्डलीफ(Mendeleev) की संशोधित आवर्त सारणी और आधुनिक आवर्त सारणी etc. के बारे में बात करेंगे।

What is periodic table?
आवर्त सारणी क्या है?

दोस्तों यह भी एक प्रकार का table ही है बस इसमें तत्वों(Elements) को उनके परमाणु क्रमांक(Atomic number) या परमाणु भार(Atomic weight) के बढते क्रम में रखा जाता है।

Why it was made?
क्यों बनाया गया?

दोस्तों periodic table बनने से पहले बहुत ही कम Elements की खोज हुई थी,उस समय लगभग 60 के आसपास elements की खोज हो चुका था।

हालांकि उस समय कम ही तत्व थे,लेकिन वे इधर-उधर बिखरे हुए थे जिससे सभी तत्वों का अलग-अलग अध्ययन करना पड़ता था।

सन् 1971 में रुसी वैज्ञानिक(scientist) सर डी० आई० मेण्डेलीफ(Sir D.I MENDELEEV) ने देखा की कुछ तत्वों के गुण समान हैं तो उन्होंने समान गुणों वाले तत्वो को एक समुह(group) में रखकर periodic table की रचना किया ।

इसका उपयोग (It's use)

1-तत्वों का अध्ययन करना आसान हो गया क्योंकि किसी समूह (वर्ग) के एक तत्व का अध्ययन करने से उस समूह के सभी तत्वों का ज्ञान हो जाता है।

2-नये तत्वों के खोज में आसानी हुई क्योंकि periodic table में अज्ञात तत्वों का स्थान खाली छोडा गया था। etc.

Some definition related to P.T
आवर्त सारणी से संबंधित कुछ परिभाषाएँ।

आवर्त(period)-आवर्त सारणी में क्षैतिज पंक्तियों को period कहते हैं।

समूह{वर्ग(Group)}- आवर्त सारणी में ऊर्ध्वाधर पंक्तियों को Group कहते हैं। नौकरी की जानकारी

संक्रमण तत्व(transition elements)-d-block के तत्वों को संक्रमण तत्व कहते हैं।

Primary periodic table of Mendeleev
मेण्डलीफ(Mendeleev) की पुरानी(मूल) आवर्त सारणी

इसका निर्माण सन् 1671 ई० में मेण्डलीफ(Mendeleev) द्वारा किया गया।

इसमें तत्वों को मेण्डलीफ के आवर्ती नियम के अनुसार उनके परमाणु भार के बढते क्रम में रखा गया है।

मेण्डलीफ का आवर्ती नियम-मेण्डलीफ ने बताया कि तत्वों के भौतिक(Physical) और रासायनिक(chemical) गुण(qualities) उनके परमाणु भार (Atomic weight) के आवर्ती फलन होते हैं अर्थात यदि तत्वों को उनके Atomic weight के बढते क्रम में रखें तो एक निश्चित अंतराल के बाद समान गुण वाले तत्वों की पुनरावृत्ति होती है।

इसके गुण(It's qualities)-

1- इसमें 9 वर्ग हैं।

2-इसमें 12 आवर्त हैं।

इसकी विशेषताएँ (It's Features)-

1-तत्वों के अध्ययन में सुविधा।

2-नये तत्वों के खोज में सुविधा।

3-कुछ तत्वों के Atomic weight की सही ज्ञान। etc.

इसकी कमियां (It's drawbacks)-

1-तत्वों का अभिलाक्षणिक गुण उनका Atomic number है atomic weight नहीं।

2-हाड्रोजन(H) का सही स्थान का निर्धारण -इस periodic table में H को दो समूहों (हैलोजन परिवार और s-block) में रखा गया है जो कि सही नहीं है।

3-atomic weight के क्रम होने के बावजूद 18Ar40(आर्गन) को 19K39(पोटैशियम) से पहले रखा गया है जो सही नहीं है। etc.

मेण्डलीफ की संशोधित(नयी) आवर्त सारणी
Revised periodic table of Mendeleev -

मेण्डलीफ के मुल periodic table की कमियों को देखते हुए मोजले(Moseley) ने उसमें संशोधन करके नये रुप में प्रस्तुत किया,जिसे मेण्डलीफ की संशोधित आवर्त सारणी के नाम से जाना जाता है।

मोजले ने बताया कि तत्वों के अभिलाक्षणिक गुण उनका Atomic number है।

इन्होंने आधुनिक आवर्त नियम दिया जिसके अनुसार¨ तत्वों के भौतिक व रासायनिक गुण उनके atomic number के आवर्ती फलन होते हैं।¨

इसकी विशेषताएँ (It's Features)-

1-इसमें तत्वों को उनके Atomic Number के बढते क्रम में रखा गया है।

2-इसमें 9 वर्ग तथा 7 आवर्त हैं।

3-इसमें 0 से VIII तक 9 समूह होते हैं।

4-किसी समूह में तत्वों के atomic number के साथ उनके गुणों में परिवर्तन होता है।

5-किसी समूह में तत्वों के atomic number में वृद्धि के साथ उनका आयनन विभव घटता है तथा उनका धात्विक और धन विधुती लक्षण बढता है।

6-इसमें अक्रिय गैसो को शून्य समूह में रखा गया है।

7- इसके पहले आवर्त में केवल 2 तत्व हैं इसलिए इसे अतिलघु आवर्त कहते हैं।

8-इसके दूसरे तथा तीसरे आवर्त को लघु आवर्त कहते हैं क्योंकि इनमें 8-8 तत्व हैं।

9-इसके चौथे व पाँचवें आवर्त को दीर्घ आवर्त कहते हैं क्योंकि इनमें 18-18 तत्व हैं।

10-इसके छठें व सातवें आवर्त को अतिदीर्घ आवर्त कहते हैं क्योंकि इनमें 32-32 तत्व हो सकते हैं।

11-2nd आवर्त के कुछ तत्व 3rd आवर्त के कुछ तत्वों के साथ विकर्ण सम्बन्ध प्रदर्शित करते हैं।

Eg- Li→Mg. Be→Al. B→Si.

12- 3rd आवर्त के तत्व प्रारूपी तत्व कहलाते हैं।

13-इसमें लेन्थेनाइड(lengthened) और एक्टिनाइड(actinide) श्रेणी के तत्वों को अलग रखा गया है। GET JOB INFORMATION

इसके उपयोग(It's use)-

1-तत्वों के अध्ययन में सुविधा।

2-नये तत्वों के खोज मे सुविधा।

3-कुछ तत्वों के atomic number का संशोधन।

इसकी कमियां (It's drawbacks)-

1-H के निश्चित स्थान का निर्धारण न हो सका।

2-मोजले लेन्थेनाइड(lengthenide) और एक्टिनाइड(actinide) श्रेणी के तत्वों को अलग रखने का कारण नही बता पाएँ।

3-मोजले ने इस आवर्त सारणी में धातुओं(metals) और अधातुओं को एक साथ रखा है जो कि इसका बहुत बड़ा दोष है। etc.

Modern periodic table
आधुनिक आवर्त सारणी। -

मेण्डलीफ के संशोधित आवर्त सारणी की कमियों को देखते हुए आधुनिक आवर्त सारणी या दीर्घाकार आवर्त सारणी का निर्माण हुआ।

इसमें तत्वों को उनके इलेक्ट्रानिक विन्यास(Electronic structure) के बढते क्रम में रखा गया है।

इसके आवर्त नियम के अनुसार तत्वों के भौतिक एवं रासायनिक गुण उनके इलेक्ट्रानिक विन्यास के आवर्ती फलन होते हैं।

इसका विशेषताएँ(It's Features)-

1-इसमें 7 आवर्त तथा 18 वर्ग हैं।

2- इसमें तत्वों को उनके electronic structure के बढते क्रम में रखा गया है।

3-इस periodic table को चार ब्लॉक(s,p,d और f) में बाँटा गया है।

4-इसमें भी लैन्थेनाइड(lengthenide) और एक्टिनाइट(actinide) श्रेणी के तत्वों को अलग रखा गया है।

इसकी उपयोग(It's use)-

1-तत्वों के अध्ययन में सुविधा।

2-नये तत्वों के खोज में सुविधा।

शेष भाग अगले post में।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए आप मुझे email(sky81534@hotmail.com) कर सकते हैं।

अगर आपको यह post अच्छी लगी हो,तो please अपने दोस्तों के साथ share करें।

Thanks! पढते रहिए studyTRAC

about periodic table in Hindi,periodic table Ki jankari Hindi me,use of periodic table,periodic table ka upyoge,आवर्त सारणी का उपयोग,विज्ञान नोट्स, highschool ka vigyan notes Hindi me,best website for students,best website for indian students,best website for highschool notes,10th science notes in Hindi

मंगलवार, 9 अगस्त 2016

Alum, bleaching powder and Sal ammonic in Hindi(फिटकरी,विरंजक चूर्ण और नौसादर)


Highschool science notes in Hindi Highschool science notes in Hindi

Hi friends,आज मैं आपके साथ highschool chemistry notes का 4th part share कर रहा हूँ।


Highschool chemistry notes in Hindi

Part-4

दोस्तों इस post में मैं आपको फिटकरी (Alum),विरंजक चूर्ण(Bleaching powder) और नौसादर(Sal ammonia) के बारे में बताने जा रहा हूँ।WANT A HIGH SALARY JOB?

फिटकरी(Alum)

रासायनिक नाम(chemical name)-पोटॅाश एलम(potash alum) या पोटैशियम ऐल्युमिनियम सल्फेट(Potassium aluminium sulphate)

रासायनिक सुत्र(Chemical formula)-

K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O

बनाने की विधि(Method to make)-

पोटैशियम सल्फेट के जलीय विलयन की अभिक्रिया एल्यूमिनियम सल्फेट से कराने पर potash Alum प्राप्त होता है।

K2SO4 + Al2(SO4)3 + 24H2O → K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O

गुण(qualities)-

1-यह पोटैशियम तथा एल्यूमिनियम का द्विक लवण है।

2-इसका जलीय विलयन अम्लीय होता है।

3-यह रंगहीन(Colour less),क्रिस्टलीय(crystalline) तथा अल्प पारदर्शक(semi-limpid) ठोस पदार्थ है।

4- 90°C ताप पर गरम करने पर यह पिघल जाती है।

5- 200°C ताप इसका निर्जलीकरण(Dehydration) हो जाता है।

K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O → K2SO4.Al2(SO4)3 + 24H2O

6-जल में घोलने पर यह आयनित हो जाती है। K2SO4.Al2(SO4)3 + 24H2O → 2K+ + 2Al3+ + 4SO42- + 24H2O

उपयोग(Use)-

1-चमड़ा(Leather) और कागज़(Paper) उद्योग(Industries) में।

2-जीवाणु नाशक(bactericidal) के रूप में।

3-कपड़ा उद्योग(fabric industries) में। etc.


विरंजक चुर्ण(bleaching powder)

रासायनिक नाम(chemical name)-

कैल्शियम हाइपो क्लोराइड(Calcium hypo chloride) या कैल्शियम आक्सो क्लोराइड(Calcium Oxo chloride)

रासायनिक सूत्र(Chemical formula)-

CaOCl2

बनाने की विधि(Method to make)-

बुझे चुने{Ca(OH)2} पर क्लोरीन gas प्रवाहित करने पर bleaching powder प्राप्त होता है।

Ca(OH)2 + Cl2 → CaOCl2 + H2O

गुण(qualities)-

1-इसका रंग हल्का पीला होता है।

2-इससे क्लोरीन gas की गन्ध आती है।

3-गर्म करने पर यह कैल्शियम क्लोराइड में बदल जाता है तथा आक्सीजन gas निकलती है।

2CaOCl2 → 2CaCl2 + O2

4-इसके जलीय विलयन को गर्म करने पर बुझा चूना व क्लोरीन gas प्राप्त होता है।

CaOCl2 + H2O → Ca(OH)2 + Cl2

5-CO2 gas से अभिक्रिया कराने पर खडिया(chalk) प्राप्त होता है और क्लोरीन gas निकलती है।

CaOCl2 + CO2 → CaCO3 + Cl2

उपयोग(Use)-

1-वायुमंडल(Atmosphere) से विषैली गैस(poisonous gas) हटाने में।

2-चीनी(sugar) को white करने में।

3-Drinking water को शुद्ध(pure) करने में।

4-क्लोरोफार्म(CHCl3) के निर्माण में। etc.


नौसादर(Sal ammonic)

रासायनिक नाम(chemical name)-अमोनियम क्लोराइड(ammonium chloride)

रासायनिक सूत्र(Chemical formula)- NH4Cl.

बनाने की विधि(method to make)-

हाइड्रोक्लोरिक अम्ल(HCl) की अभिक्रिया अमोनिया(NH3) gas से कराने पर नौसादर प्राप्त होता है।

HCl + NH3 → NH4Cl.

गुण(Qualities)-

1-इसे जल में घोलने पर उष्मा का शोषण होता है।

2-यह whiteक्रिस्टलीय ठोस पदार्थ है।

3-गर्म करने पर यह बिना द्रवित हुए गैसिय अवस्था में बदल जाता है।

4-NaOH के साथ क्रिया कराने पर सोडियम क्लोराइड का जलीय विलयन तथा अमोनिया गैस प्राप्त होता है।

NH4Cl + NaOH → NaCl + H2O + NH3

5-गर्म करने पर अमोनिया gas तथा HCl gas प्राप्त होता है।

Note-लगभग हर chemical reaction के साथ नौसादर अमोनिया गैस देता है।


शेष भाग next post में।GET JOB'S INFORMATION

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

अगर यह post आपको पसंद आई हो,तो please अपने दोस्तों के साथ share करें।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए आप मुझे mail(sky81534@hotmail.com) कर सकते हैं।

Thanks! पढते रहिए studyTRAC

About alum in Hindi, about Sal ammoniac in Hindi,alum formula,alum chemical reactions,how to alum,how to make Sal ammoniac,formula of alum,Sal ammoniac formula,फिटकरी का सुत्र ,नौसादर का सुत्र,कक्षा 10 का विज्ञान नोट्स, class 10th science. Notes,science notes of highschool in Hindi,about bleaching powder in Hindi,bleaching powder formula,chemical structure of bleaching powder,formula of bleaching powder,विरंजक चूर्ण का रसायनिक सुत्र,नौसादर का उपयोग,फिटकरी का उपयोग,use of bleaching powder,use of alum, use of Sal ammoniac,

सोमवार, 8 अगस्त 2016

Washing powder and baking powder in Hindi(धावन सोडा और बेकिंग सोडा)


Highschool Science Notes In Hindi Highschool Science Notes Hindi

Hi friends,आज मैं आपके साथ Highschool Chemistry Notes का Third Part share करने जा रहा हूँ।



Highschool chemistry notes in Hindi.

Part -3.

WANT A HIGH SALARY JOB? दोस्तों आज मैं आपको धावन सोडा(Washing powder) और खाने वाला सोडा(Baking soda) के बारे में बताने जा रहा हूँ।

धावन सोडा(Washing Powder) -

रासायनिक नाम(chemical name)-सोडियम कार्बोनेट (Sodium carbonate)

रासायनिक सुत्र( chemical formula)- Na2CO3.10H2O

बनाने की विधि(Method to make)-

कॅास्टिक सोडा(NaOH) के सान्द्र विलयन में कार्बन डाई आक्साइड(CO2) gas प्रवाहित करने पर सोडियम कार्बोनेट का विलयन प्राप्त होता है,जिसको गर्म करने पर धावन सोडा के क्रिस्टल प्राप्त होते हैं।

2NaOH+CO2→Na2CO3+H2O

गुण(properties)-

1-जल में विलेय होकर उष्मा प्रदान करता है।

2- गंधहीन और क्रिस्टलीय पदार्थ है।

3-इसका गलनांक 850°C है।

4-गर्म करने पर यह निर्जल सोडियम कार्बोनेट(सोडा ऐश) में बदल जाता है।

Na2CO3.10H2O→Na2CO3+10H2O

5-कार्बन डाई आक्साइड से अभिक्रिया करके खाने वाला सोडा(NaHCO3) बनाता है।

Na2CO3 + H2O + CO2 → 2NaHCO3

6-किसी अम्ल से अभिक्रिया करके उस अम्ल का लवण,जल तथा कार्बन डाई आक्साइड gas मुक्त करता है।

Na2CO3+2HCl→2NaCl+H2O+CO2

7-इसको रेत(sand) के साथ गर्म करने पर काँच(सोडियम सिलिकेट) प्राप्त होता है।

Na2CO3+SiO2 → Na2SiO3+CO2

8-किसी धातु लवण से अभिक्रिया करके उस धातु का कार्बोनेट बनाता है।


उपयोग(Use)-

1-खाने वाला सोडा(बेकिंग सोडा) बनाने में।

2-अभिकर्मक के रुप में।

3-कठोर जल(heavy water) को मृदु (soft) करने में।

4-धातुओं के निष्कर्षण(extraction) में। etc.

खाने वाला सोडा(Baking soda)

रासायनिक नाम(Chemical name)
-सोडियम बाई कार्बोनेट(Sodium bicarbonate)

रासायनिक सुत्र(Chemical formula)- NaHCO3

बनाने की विधि(Method to make)- धावन सोडा(Na2CO3) के जलीय विलयन में कार्बन डाई आक्साइड गैस प्रवाहित करने पर Baking soda प्राप्त होता है।

Na2CO3 + H2O + CO2 → 2NaHCO3


गुण(Quality)-

1-इसका जलीय विलयन क्षारीय होता है।

2-यह सफेद क्रिस्टलीय पदार्थ है।

उपयोग(Use)-

1-अभिकर्मक के रुप में।

2-washing powder बनाने में।

3-डबल रोटी(double roti) बनाने में।

4-cold drinks बनाने में।

शेष भाग next post में।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

GET JOB'S INFORMATION अगर यह post आपको पसंद आई हो,तो please अपने दोस्तों के साथ share करें।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए आप मुझे mail(sky81534@hotmail.com) कर सकते हैं।

Thanks! पढते रहिए studyTRAC

About washing powder in Hindi,About baking powder in Hindi,washing powder Ki jankari Hindi me,Baking powder Ki jankari Hindi me,how to make washing powder,how to make baking powder,qualities of washing powder,qualities of baking powder,washing powder kaise banaye,baking powder kaise banaye,science notes in Hindi,10th vigyan notes Hindi me,class 10th science notes in Hindi,class 10th free online education in Hindi

Acid, base and salt in Hindi(अम्ल,क्षार और लवण)


Highschool Science Notes In Hindi Highschool Science Notes In Hindi

Hi friends,आज मैं आपके साथ Highschool Chemistry Notes का Second Part share कर रहा हूँ।


Highschool chemistry notes in Hindi Part-2

क्षारक(Alkalis)-

वे क्षार जो जल में घुलकर (OH)- आयन देते हैं,क्षारक कहलातें है।

Eg-NaOH,KOH etc.

Note-सभी क्षारक क्षारWANT A HIGH SALARY JOB? होतें हैं लेकिन सभी क्षार क्षारक नही होते।

Eg-CuO,CaO,MgO आदि क्षार हैं क्योंकि ये acid से क्रिया करके salt और water बनाते हैं,लेकिन क्षारक नही हैं क्योकि ये water में घुलकर (OH)- नहीं देते हैं ।

हाइड्रोनियम आयन(Hydronium ion)-जब acid को जल में घोला जाता है तो वह आयनित हो जाता है तथा जल के अणुओं से अभिक्रिया करके हाइड्रोनियम आयन(H3O)+ बनाता है।

Eg-HCl + H2O → (H3O)+ + Cl-

उदासीनीकरण(Neutralisation)-acid और Base के परस्पर अभिक्रिया करने पर salt और water बनने की क्रिया,उदासीनीकरण कहलाती है।

Eg-NaOH+HCl→NaCl+H2O

आयनीकरण(ionisation)-किसी यौगिक(compound) का धनायन(+) तथा ऋणायन (-) में टुट जाना आयनीकरण कहलाता है।

Eg-NaCl→(Na+)+Cl-

लवणों के प्रकार(Types of salts)

लवण मुख्यतः 6 प्रकार के होते हैं-

1-सामान्य लवण(simple salts)

EgNaCl,KCl,MgCl2 etc.

2-अम्लीय लवण(Acid salts)

EgNaHSO4,KHSO4 etc.

3-क्षारीय लवण(Basic salts)

EgCa(OH)Cl , Mg(OH)Cl etc.

4-द्विक लवण(Double salts)

EgK2SO4.Al2(SO4)3.24H2O , FeSO4.(NH4)2.6H2O etc.

5-मिश्रित लवण(Mixed salts)

EgNaKSO4 , CaOCl2

6-जटिल लवण(Complex Salts)

EgNa[Ag(CN)2] , K4[Fe(CN)6] etc.

pH सूचक(pH indicators)-ऐसे पदार्थ जो किसी रासायनिक अभिक्रिया के पुर्ण होने की जानकारी देते हैं,सूचक कहलाते हैं।

कुछ प्रमुख सूचक तथा अम्लीय और क्षारीय विलयन में उनके रंग-

1-लिटमस पत्र(Litmus paper)

अम्लीय विलयन में -नीला(blue)

क्षारीय विलयन में-लाल(Red)

2-मेथिल रेड(Methyl red)

अम्लीय विलयन में-लाल(Red)

क्षारिय विलयन में-पीला(yellow)

3-मेथिल आरेन्ज(methyl orange)

अम्लीय विलयन में-लाल(Red)

क्षारीय विलयन में-नारंगी+पीला(yellow+ orange)

4-फिनॅाल्फ्थेलीन(Phenolphthalein)

अम्लीय विलयन में -रंगहीन(colour less)

क्षारीय विलयन में-गुलाबी(pink)


pH पैमाना(pH scale)

यह किसी विलयन की अम्लीयता या क्षारकता को मापता है।

pH मान(pH value)

किसी विलयन का pH मान यह बताता है की वह विलयन अम्लिय है अथवा क्षारीय है।

Notes:

1-pH मान 0 से 14 तक होता है।

2-अम्लीय विलयनों के लिए pH मान 0 से 6 तक होता है।

3-क्षारीय विलयनों के लिए pH मान 8 से 14 तक होता है।

4- उदासीन विलयन के लिए pH मान 7 होता है।

pH मान की गणना(pH value counting)

सुत्र(formula)- यदि किसी विलयन में (H+) की सांद्रता x मोल/ली० हो,तो

pH=-log10(H+)

Eg-यदि किसी विलयन में (H+) की सांद्रता 1.0x10-3 मोल/ली० हो,तो विलयन के pH मान की गणना कीजिए।

Ans.- pH मान=-log10(1.0x10-3)

=3X(log1010)

=3

pOH मान की गणना-

यदि किसी विलयन में (OH)- की सांद्रता X मोल/ली० हो,तो

pOH=-log10(OH)-

Eg-यदि किसी विलयन में (OH)- की सांद्रता 1.0x10-2 हो,तो विलयन के pOH मान की गणना कीजिए।

Ans.pOH=-log10(1.0x10-2)

=2X (log1010)

=2

याद रखें- pH+pOH=14

Notes-कुछ प्रमुख पदार्थों के pH मान-

1-जल(water)=7

2-आमाशय रस(stomach liquid)-1.4

3-नीबू का रस(lemon's juice)-2.5

4-टमाटर रस(tomato's juice)-4.1

5-काफी(coffee)-5.0

6-दूध(milk)-6.5

7-रक्त(blood)-7.4

8-अण्डा(egg)-7.8

9-मिल्क आफ मैग्नीशिया(milk of magnishiya)-10.5

10-NaOH-14

15-HCl-0


Exercise-

नीचे कुछ questions दिये गए हैं जिन्हें आप स्वयं solve करने का GET JOB'S INFORMATIONप्रयास करें।

Q1-निम्नलिखित यौगिकों के आयनीकरण की अभिक्रिया लिखिए।

(a)-NaCl (b)-MgO

(c)-CaS (d)-FeO

Q2-यदि किसी विलयन में (H+) की सान्द्रता 1.0X10-3हो ,तो उस विलयन का pH और pOH मान की गणना कीजिए

Q3-यदि किसी विलयन में (OH)-की सान्द्रता 0.01X10-3 हो,तो pH और pOH मान की गणना कीजिए।

Q4-यदि किसी विलयन का pH मान 6 हो,तो उस विलयन की सान्द्रता ज्ञात कीजिए।

Q5-यदि किसी विलयन का pOH मान 5 हो,तो उस विलयन की सान्द्रता ज्ञात कीजिए।

Q6-क्षारीय विलयन में मेथिल आरेन्ज कैसा रंग देता है?

Q7-अम्लीय विलयन में मेथिल रेड कैसा रंग देता है?

Q8-अम्लीय व क्षारीय विलयन में लिटमस पेपर कैसा रंग देता है?

Q9-निम्नलिखित अभिक्रियाओं को पूर्ण कीजिए।

(a)-Ca(OH)2+H2S→.....+.....

(b)-KOH+HCl→.....+.....

(c)-FeS+Cu(OH)2→.....+.....

Q10-HCl+NaOH=?

ऊपर दिए गए questions बहुत ही easy हैं By-chance अगर आप नहीं solve कर पा रहे हों,तो comment करके बताएँ।

शेष भाग next post में।

दोस्तों आज की post आपको कैसी लगी कृपया नीचे comment करके बताएँ।

अगर यह post आपको पसंद आई हो,तो please अपने दोस्तों के साथ share करें।

किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए आप मुझे mail(sky81534@hotmail.com) कर सकते हैं।

Thanks! पढते रहिए studyTRAC

about pH value in Hindi,about pH scale in hind,10th science notes in Hindi,Hindi vigyan notes,Hindi vigyan note of class 10,Hindi science notes,10th science notes,10th vigyan notes Hindi me,10 vigyan notes Hindi me.